अरण्यावरण 🌲🌳🌴🌵

 बचपन से ही प्रकृति के सानिध्य में रहा हूं।जंगलों के हरे –भरे पेड़ मुझे बड़े ही अच्छे लगते।पिता जी फॉरेस्ट इंस्पेक्टर थे।उनका तबादला हमेशा भारत के बड़े से बड़े और बीहड़ जंगलों में हुआ करता,जिसके कारण मुझे हमेशा इन पेड़ों का सानिध्य मिला करता था।सच कहूं तो पिता जी की तरह ही मेरे भी प्राण इन पेड़ों में बसा करते।  […]

Corona is back😁😁

संपर्क लाल बड़ा परेशान🤯 नजर आ रहा था। इस कोरोना ने तो नाक में दम कर रखा है। 1 साल से भी ज्यादा हो गए, पर जाने का नाम ही नहीं ले रहा है। शहर में एक बार फिर से लॉक डाउन लग गया। हां! कुछ रियायत दी गई है कि कुछ घंटे अपने भी होंगे। अब क्या करूं? घर […]

इंटरनेट की अंधी दुनिया(Side effects of Social Media)🖥️💻📲

 ट्रिन ट्रिन ट्रिन,📱 रात के 12:00 बज रहे थे, जैसे ही  शेफाली ने फोन की घंटी सुनी, ऊपर से नीचे तक कांप गई। पिछले 10 दिन से ये आवाज उसके कानों में शीशे की तरह चुभ रही थी।अपने मां– बाप की बात ना मानने का यही अंजाम होता है,ये पता चल गया था उसे। पता नहीं इस मुसीबत से कैसे छुटकारा […]

दिलों की दूरियांं🛕🕍🕌⛪

नदियाँ गहरी, नाव पुरानी,सुनाता हूं तुमको इक बच्चे की कहानी,जब जन्म लिया उसने,नहीं पता था कि कौन है वो,और सभी की तरह,उंगली पकड़ कर चलना सीखा,किसी भी इन्सान में,उसे दुश्मन नहीं दिखा,बचपन में किसी भी मैदान और मकान में खेल लिया करता था,ये घर ऐसा क्यूँ है, वो कस्बा ऐसा क्यूँ है,ये लोग ऐसे क्यूँ हैं, वो लोग ऐसे क्यूँ […]

गला–काट प्रतियोगिता🧐🧐

       सुबह के 10 बज रहे थे, पर शांताबाई का अभी तक कोई पता ठिकाना नही था। इतना तो कोई अपने प्रेयसी का भी इंतजार नहीं करता, जितना मैंने उसके इंतजार में पूरे घर में मैराथन कर लिया था। 🤔🤔कौन है ये शांताबाई, क्या वजूद है उसका हमारे घर में? तो भईया, बात ऐसी है कि शांताबाई हमारी […]

Happy Women’s Day

दुनिया की सभी महिलाओं को महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं🌸🌸🌸।पर कुछ अनकही बातें मन में चल रही हैं।क्या एक दिन औरतों को dedicate करके उन खबरों को कैसे ढंक सकते हैं,जब हर दिन औरतों के अस्मत बर्बाद होने की खबर अखबार की सुर्खियां बनती हैं।ये सही है कि सदियों से पैरों में लगी बेड़ियां टूटने लगी हैं।रोशनदान से आजादी की […]

एक प्रवासी की डायरी📒🖋️

सालों बीत गए देश को छोड़े हुए,पर वहां की आबो– हवा को आज तक सैम भूला नहीं। भारत की मिट्टी, उसमें से निकलती सोंधी खुशबू ,वहां की संस्कृति क्या – क्या नहीं आंखों के सामने घूम जाते हैं। विदेश में प्रवास करने वाले या किसी भी विषम परिस्थितियों के कारण अपने देश छोड़ने वाले एक NRI की कहानी ,उसी की […]

Mithi Taan📸🎼🎤

 सुनैना कहां चढ़ रही हो,गिर जाओगी तो अभी हॉस्पिटल के चक्कर लगाने में पसीने छूट जाएंगे।ये रमेश की आवाज थी,जो पीछे से अपनी पत्नी को टेबल पर चढ़ते देखकर जोर से चिल्लाया। तेज आवाज़ से सुनैना सकपका गई और इस चक्कर में उसके पैर भी डग – मगा गए।आंखें तरेरते हुए उसने रमेश को बोला कि कब से कह रही […]

पोस्टकार्ड📋🖋️

साइकिल की घंटी बजीआंखें दरवाजे पे लगीखाकी वर्दी में जब दिखा पोस्टमैनअपनों की खबर मिलेगीदिल को मिलेगा चैनडाकिया आया, डाकिया आयाहाथों में पोस्टकार्ड थमायासुख दुख की खबरें होती थींलिखित अक्षरों में जज्बातों की नदियां बहती थींउस पीले- नीले कागज परछोटे – छोटे अक्षरों से कोना – कोना सजता थाफिर भी लिखना अधूरा ही रह जाता थाजाने कहां गए वो दिनजब […]

🇳🇪🇳🇪🇳🇪Happy Republic Day 🇳🇪🇳🇪🇳🇪

सबसे पहले मैं अपने सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई देती हूं। एक आम भारतीय का अपने राष्ट्र के नाम एक संदेश हर देश की निवासियों की आंखों में एक सपना जरूर तैरता है कि उसके देश में हमेशा अमन – चैन रहे।आज भारत अपना 72वां गणतंत्र दिवस मना रहा है।पिछले साल कोरोना वायरस के कारण देश अस्त […]