एक औरत बदहवास – सी,चेहरे पे बिखरी लटें मलिन मुखमंडल लिए नजर आई है पता चला बदनाम मुहल्ले से एक बदनाम औरत सभ्य समाज में बदली बनकर छाई है सुनकर मन विचलित हुआ,तलाशने लगा इनकी बदनामी का सच क्या इन औरतों को ईश्वर ने विशेष प्रक्रिया से गठित किया है या यूं समझो कि हमारे सभ्य समाज ने ही इसे […]