कफ़न भी क्या चीज़ होती है ना जिसने बनाया,उसने बेचा।जिसने खरीदा उसने इस्तेमाल ही नहीं किया और जिसने इस्तेमाल किया ,उसे यह ज्ञात ही नहीं है।           ऊपर के ये चंद शब्द जीवन के यथार्थ का कितना सजीव चित्रण करते हैं ये मेरी कहानी में झांककर देखिए और किसी को कितना मजबूर और बेबस बनाते हैं […]