ट्रिन ट्रिन ट्रिन,📱 रात के 12:00 बज रहे थे, जैसे ही  शेफाली ने फोन की घंटी सुनी, ऊपर से नीचे तक कांप गई। पिछले 10 दिन से ये आवाज उसके कानों में शीशे की तरह चुभ रही थी।अपने मां– बाप की बात ना मानने का यही अंजाम होता है,ये पता चल गया था उसे। पता नहीं इस मुसीबत से कैसे छुटकारा […]